रविवार, 31 जुलाई 2011

To LoVe 2015: Breaking NEWS : Banglore - Guwahati express Derail Another train accedient:

Source(PTI): NEWSx



Main points:


  • Guwahati - Banglore express derail in Malda (West Bangal).
  • NO casualties yet.
  • More than 20 people are injured in this derail.
  • Another train cumming from the opposite side , Collided with front side of Engine.
  • Railway spokesman Narendra said the helpline numbers are (080) 22356409 or 2235 6410


A video of this one:
/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: महाशिव पुराण


महाशिव पुराण 


सूत जी बोले  -सुनाता हूँ तुम्हे मैं एक कथा 
शिव भक्ति से विरत जीवन तो है एक व्यथा 
है पुरानी बात  ये समुद्र तट प्रदेश की
जिसके  निवासी मूर्ति थे दुष्टता के रूप की .

पशु प्रवर्ति पुरुष थे ,स्त्री व्यभिचारिणी
पुण्यहीन पुरुष और स्त्री पुण्य हारिणी
यहीं बसा था एक विदुंग  नाम ब्राह्मन
छोड़ सुन्दर भार्या वेश्या  से करता था रमण .

धीरे धीरे भार्या से उसकी विमुखता थी बढ़ी
पत्नी चंचुला पे भी काम की गर्मी चढ़ी
कामावेग से विवश धर्म-भ्रष्ट हो गयी
एक अन्य पुरुष के प्रेम में वो खो गयी .

जानकर ये बात विदुंग क्रोधाग्नि में जला
मारपीट करने को हो गया उत्सुक बड़ा
चंचुला ने तब उसे ये उलाहना था दिया
छोड़ मुझसी रूपसी क्यूँ वेश्या में था तू रमा ?

कैसे रोक सकती थी मैं कामना तूफ़ान को ?
काम पीड़ा नाग बन डस रही थी प्राण को
सुन चंचुला व्यथा विदुंग  के थे ये विचार
धन कमाने के लिए अब तुम करो उनसे बिहार .

पति की अनुमति पा व्यभिचार करने लगी
अधर्म को धर्म मान कुमार्ग पर चलने लगी
आयु पूर्ण होने पर विदुंग की मृत्यु  हो गयी
कुकर्म के फलस्वरूप पिशाच की योनि मिली .

चंचुला के रूप की धूप भी थी ढल गयी
गोकर्ण -प्रदेश में एक दिन थी वो गयी
एक मंदिर में कथा संत मुख से थी सुनी
दुष्कर्म के परिणाम  सुन मन में ग्लानि भर गयी .

                           [जारी ...]
            शिखा कौशिक




/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: जिन्दगी इश्क की



हुश्न ऐसा हो, जो नुमाइश ना भी हो, तो दिखता हो,
जश्न ऐसा हो, जो साकी... जिन्दगी इश्क की (Complete)


/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

हिंदी ब्लॉगर्स फ़ोरम इंटरनेशनल HBFI: हरेक समस्या का अंत आप कर सकते हैं तुरंत Easy Solution

Easy Solution: "सद्-प्रेरणा लेना-देना और सत्कर्म करना अब आपकी ज़िम्मेदारी है। देखिए कि आप क्या कर रहे हैं ?"/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: SLutWalk in Delhi Sunday Morning


  • One of ther biggest rally against the Rapes in India's Capital start today in the morning.
  • Just remember the relly in Toronto in April and in a few months
  • The Slutwalk has become a revolution across the world
  • The slogans were shouted  loudly- "Besharam kaun? Teri aankhe teri soch!"
  • SLutWalk also called Besharmi Morcha. And the organisers hope the rally move towards a success.

  • Today slulwalk have a much strong support from the MALE gender also. it is a great NEWS.





Source from: NDTV,IBN

/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: स्वर्ग.....कविता...ड़ा श्याम गुप्त.....


घुसते ही घर में कानों में ,
सरगम स्वर में सुर-ताल बही |

खिड़की के एक झरोखे से ,
झन झन पायल झनकार रही |
कमरे में झांका तो देखा,
थी राजकुमारी नाच रहीं ||

बैठक के एक किनारे से ,
सप्तम कानों में टकराया |
झांझर तबला, मटका गिटार -
का मिला जुला सा स्वर आया ||

देखा तो कुंवर कन्हैया जी,
अपनी ही धुन में खेल रहे |
चिमटा थाली,चम्मच गिलास,
पर वे रियाज़ थे पेल रहे ||

लो अहा ! किचन से ये कैसी,
खुशबू सी तिरती आई है |
साथ साथ उनके स्वर की-
मृदु-वीणा सी लहराई है ||

कोई पूछे मुझसे आकार ,
इस दुनिया में स्वर्ग कहीं है ?
यह सुनकर लगता है ऐसा,
स्वर्ग यहीं है स्वर्ग यही है ||
/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

शनिवार, 30 जुलाई 2011

अमन का पैग़ाम: क्यों साऊथ अफ्रीका मैं बलात्कार इंडिया से अधिक होत...

अमन का पैग़ाम: क्यों साऊथ अफ्रीका मैं बलात्कार इंडिया से अधिक होत...: "क्यों साऊथ अफ्रीका मैं बलात्कार इंडिया से अधिक होते हैं? यह सवाल उस समय मेरे दिमाग मैं आया जब मैं दुनिया मैं हो रहे अपराधों की तुलना करने व..."
/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: IBPS site Hang a lot of student /Employee face problem

 The Institute of Banking Personnel Selection (IBPS) is an autonomous body set up with the vision to evolve and implement world class processes and systems of assessment and selection of personnel for various client organizations, conduct relevant supportive research and publicise the findings.
  • A lot of problem to the client as its server down and most of the person not able to submit the form.
  • Last Date is 1st august.
  • But still Server down problem here....????????????







/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: BMW to Launch Diesel:NEW X3



  • BMW India to go all diesel with the BMW X3 Crossover SUV.
  • This  will be launched on  August 25th, 2011. 
  • It have the 3 liter inline six turbo diesel engine will follow the 2 liter diesel mill .
  • Also the petrol engine option will not be available at the new BMW X3′s launch.
  • new BMW X3 price set  at INR 42.2 Lakhs, ex-showroom Delhi.





/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

शुक्रवार, 29 जुलाई 2011

To LoVe 2015: ख़ुशी और दर्द



ये दोस्त भी कभी कभी, अजीब सी बातें किया करते हैं,
लिखो तो ख़ुशी पर लिखा करो, अक्सर कहा करते हैं ,
उन्हें पता है की कोशिश तो, हम भी यही किया करते हैं,
पर क्या करें हम भी, जो ये पन्ने बस दर्द बयां करते हैं॥


/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

Bezaban: क्या कहा आपने शादी नहीं करेंगे?

Bezaban: क्या कहा आपने शादी नहीं करेंगे?: "क्या कहा आपने शादी नहीं करेंगे? परेशान ना हों भाई आप को तो केवल अपनी पसंद बतानी है. अभी इस सप्ताह मैंने दो पोल (POLL) किये और आश्चर्य जन..."

क्या कहा आपने शादी नहीं करेंगे? परेशान ना हों भाई आप को तो केवल अपनी पसंद बतानी है. अभी इस सप्ताह मैंने दो पोल (POLL) किये और आश्चर्य जनक रूप से टिप्पणिओं से अधिक इमानदार नतीजे सामने आये.
उन विषयों पे जहाँ लोग कम बोलना चाहते हैं पोल (POLL) वैसे भी एक कामयाब तरीका हुआ करता है हकीकत जानने का.
आज हम जिस समाज मैं रह रहे हैं वहाँ शादी के पहले सेक्स या शादी के बाद पति या पत्नी के अलावा सेक्स स्वीकार नहीं किया जाता. लेकिन ऐसा होता है यह भी सत्य है और बहुत से परिवारों मैं शादी के पहले सेक्स की इजाजत तो नहीं लेकिन बहुत बुरा नहीं समझा जाता. और कई जगह तो बिना शादी जीवन साथ गुजरने मैं भी आपत्ति नहीं होती लोगों को.

इस श्रेणी का पहला POLL

1) आप को क्या लगता है?



2) शादी के बाद परायी स्त्री या पराये पुरुष से सेक्स


/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: बाबा और उनका राज़दार बालकृष्ण तनाव दूर करने के लिए ख़ुद योग का सहारा क्यों नहीं लेते ?


बरसों पहले जब दुनिया बाबा की दीवानी थी। तब भी हमने लोगों को बताया था कि योग के नाम पर बिज़नैस किया जा रहा है। पश्चिम में योग की मूल आत्मा वैराग्य को ग्रहण नहीं किया जा रहा है बल्कि वहां की औरतें अपने नितम्ब आकर्षक बनाने के लिए बाबाओं से योग सीखती हैं और इसी मक़सद से वहां के पुरूष भी योग सीख रहे हैं। तनाव से मुक्ति के लिए भी वे योग को एक एक्सरसाइज़ के तौर पर ही लेते हैं। लेकिन हमारे कहने पर तब उचित ध्यान ही नहीं दिया गया बल्कि हमें कह दिया गया कि आप तो हैं ही देश के ग़द्दार ।
जिन्हें राष्ट्रवादियों का अग्रदूत माना जा रहा था, उनका कच्चा चिठ्ठा आज सबके सामने है तो समझा जा सकता है कि जो लोग इनके साथ थे या इनके पीछे थे, उनके कर्म कैसे होंगे ?
आज बाबा और उनका राज़दार बालकृष्ण दोनों ही चिंतातुर नज़र आते हैं। वे तनाव दूर करने के लिए ख़ुद योग का सहारा क्यों नहीं लेते ?
गद्दी पर क़ब्ज़े के लिए गुरू जी को ऊर्ध्वगमन  करा देने वाले शिष्य कुछ भी कर सकते हैं। अपने ही जैसे राजनीतिज्ञों से अगर वह भी दूसरे बाबाओं की तरह सैटिंग कर लेते तो आज उनके आभामंडल पर यूं आंच न आती। जो अफ़सर कल तक पांव छूते थे वे आज गला पकड़ रहे हैं।
ये बाबा तो लोक व्यवहार की नीति तक से अन्जान निकले।
आदरणीय श्री महेंद्र श्रीवास्तव जी का लेख इन सभी बातों को बेहतरीन अंदाज़ में बयान करता है और यह तारीफ़ दिल से निकल रही है। 
इस मंच को एक बेहतरीन लेख देने के लिए आपका शुक्रिया !
उनके लेख का लिंक नीचे दिया जा रहा है

अविनाश वाचस्पति जी का लेख भी इसी विषय पर एक करारा व्यंग्य है। उसका लिंक यह है

'ब्लॉगर्स मीट वीकली' के ज़रिये ब्लॉग पर मीट आयोजित करने वाला पहला ब्लॉग भी यही  है .
/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: शायद गुरूर होगा



कभी थोड़े भाव बढ़ाकभी आसमान पर पहुंचा दिया करते हैं,
सपने देख नहीं पाता कोईऔर वे तोड़ पहले दिया करते हैं,
शायद गुरूर होगा इस परकी उन पर हम लिखा करते हैं,
तरश नहीं आया उन्हें हम परजो वो रोज किया करते हैं॥


/a>
FuLl MoViEs
MoViEs To mOvIeS
XXX +24 <

To LoVe 2015: What is Android in MOBILE


  1. Android is a software  for mobile devices that includes an operating system, middleware and key applications. 
  2. The Android SDK provides the tools and APIs necessary to begin developing applications on the Android platform using the Java programming language.

Features

  • Application framework enabling reuse and replacement of components
  • Dalvik virtual machine optimized for mobile devices
  • Integrated browser based on the open source WebKit engine
  • Optimized graphics powered by a custom 2D graphics library; 3D graphics based on the OpenGL ES 1.0 specification (hardware acceleration optional)
  • GSM Telephony (hardware dependent)
  • Bluetooth, EDGE, 3G, and WiFi (hardware dependent)
  • Rich development environment including a device emulator, tools for debugging, memory and performance profiling, and a plugin for the Eclipse IDE
  • Camera, GPS, compass, and accelerometer (hardware dependent)
  • SQLite for structured data storage
    • it is New Open source RDBMS  datastore mechanism
  • Media support for common audio, video, and still image formats (MPEG4, H.264, MP3, AAC, AMR, JPG, PNG, GIF) 

 Source from Web and Developer.andorod
    /a>
    FuLl MoViEs
    MoViEs To mOvIeS
    XXX +24 <

    To LoVe 2015: India England Test Updates


    • England are batting against India on the opening day of the second Test at Trent Bridge
      • Day 1
        • ENG 81/3 (34.0 Ovs)
          Andrew Strauss*
          32 (91)
          Ian Bell
          6 (29)
          IND
          Ishant Sharma*
            12-2-21-1
          S Sreesanth
          9-1-30-2

    • CRR 2.36
    • Partnership 8(39)
    • Overs left for the day : 55.4
    • Last Wkt K Pietersen 29(53) 
    source From  Reuters)
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      भगवा को बख्श दो बाबा.......

      आइये आज एक बार फिर चलते हैं हरिद्वार के पतंजलि योग पीठ और बात करते है बाबा रामदेव के साथ ही उनके सहयोगी बालकृष्ण की। चोर पुलिस के खेल में जिस तरह बाबा रामदेव और बालकृष्ण के आगे पीछे पुलिस, सीबीआई दौड भाग कर रही है, इससे लगता है कि बाबा ने भगवा को भी दागदार कर दिया। इसलिए प्लीज बाबा इस कपडे पर रहम करो। मैं कोई ज्ञान की बात नहीं बता रहा हूं, ये सभी जानते हैं कि जिनके घर शीशे के होते हैं, वो दूसरों पर पत्थर नहीं फैंकते, लेकिन लगता है कि ये बाबा इस मूलमंत्र से भी नावाकिफ हैं।
      पहले मैं बाबा की मांगो के बारे में आपको बता दूं कि विदेशों में जमा काला धन वापस आना चाहिए। मुझे लगता है कि जिनके पैसे बाहर हैं, उनके अलावा देश का कोई भी व्यक्ति इस मांग का विरोध नहीं करेगा। मैं भी बाबा के इस मांग का समर्थक हूं, लेकिन उनकी दूसरी मांग भ्रष्ट्राचारियों को फांसी पर लटका दो, मैं इसका विरोधी हूं। दुनिया भर के दूसरे देशों में आज एक बहस छिड़ी हुई है कि फांसी की सजा को खत्म कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि ये अमानवीय है। हां सजा सख्त होनी चाहिए, इसमें कोई दो राय नहीं, लेकिन हर आदमी को सुधरने का मौका जरूर मिलना चाहिए।
      जब मैं कहा करता था कि अन्ना के साथ बाबा रामदेव का नाम जोड़कर अन्ना को गाली नहीं दिया जाना चाहिए, तो तमाम बाबा समर्थक मेरे लिए अनर्गल बातें कर रहे थे। अब देखिए बाबा योग भूल गए हैं, पूरे दिन अपने ट्रस्टों और कंपनियों का लेखा जोखा दुरुस्त करने में लगे हैं। अब पूरी तरह से बचाव की मुद्रा में हैं। घबराए इतना हैं कि भाषा की मर्यादा भी बाबा भूल चुके हैं। मेरी समझ में एक बात नहीं आ रही है कि अगर बाबा रामदेव पाक साफ हैं तो सवालों से भागते क्यों हैं। जो कुछ जानकारी पुलिस चाहती है, उसे देने में आखिर क्या गुरेज है। बाबा जी आप पुलिस को क्यों नहीं बता देते कि आपके गुरु महाराज कहां हैं। वो अब इस दुनिया में हैं या नहीं। अगर हैं तो कहां हैं, नहीं हैं तो उन्होंने कैसे प्राण त्याग दिया ?
      आजकल बाबा टीवी पर योग करते तो कम दिखाई देते हैं, अपने और बालकृष्ण पर लगे आरोपों पर सफाई देने में ही उनका समय कटता है। इतना ही नहीं बाबा से बात करो राम की तो वो रहीम की सुनाते हैं। यानि जब उनसे पूछा जाता है कि ये हजारों करो़ड़ का साम्राज्य आपने कैसे खडा किया, तो बाबा इसकी जानकारी नहीं देते, वो कहते हैं कि जो कुछ भी किया है, वो सौ प्रतिशत प्रमाणिकता के साथ किया है। बाबा जी सवाल का ये तो कोई जवाब नहीं है। ऐसे तो देश में जितने भी चोट्टे हैं, किसी के भी खिलाफ कार्रवाई करना संभव नहीं होगा। कालेधन का मामला आपने उठाया है तो पहले साफ कीजिए ना कि आपके साम्राज्य में काले धन का इस्तेमाल नहीं हुआ है। वैसे तो एक दिन आपने हिसाब देने की कोशिश की और अपने छह ट्रस्टों के बारे में कुछ पेपर पत्रकारों के सामने पेश कर दिया। लेकिन जब पत्रकारों ने उन 39 कंपनियों के बारे में जानकारी की तो आप बगले झांकने लगे। ऐसे में सवाल तो उठेगा ही एक संत को इतनी कंपनियां बनाने की जरूरत क्यों पडी, जाहिर है टैक्स चोरी करने के लिए।
      बैसे भी बाबा रामदेव जी आजकल आपकी बाडी लंग्वेज भी बताती है कि आप सामान्य नहीं हैं। हमेशा तल्ख टिप्पणी, गुस्से से तमतमाया चेहरा, नेचुरल हंसी भी गायब है, चाल में भी आक्रामकता आ गई है। सच कहूं बाबा जी तो आप जब तक सामान्य ना हो जाएं प्लीज भगवा कपड़े पहनना छोड़ दीजिए। भगवा कपडे में आज करोड़ों हिंदुस्तानियों की आत्मा बसती है, लोग इस कपडे का सम्मान करते हैं। वैसे भी पुलिस से बचने के लिए आपने जिस तरह से महिलाओं का सलवार सूट पहना, उससे आपका भगवा वस्त्र पहनने का व्रत टूट चुका है। भगवा वस्त्र का व्रत टूटने के बाद इसे ऐसे ही दोबारा नहीं पहन सकते हैं। अब आपको कोर्ट, कचहरी, पुलिस, सीबीआई का सामना करना पड रहा है, हो सकता है जेल तक जाना पडे, ऐसे में इस भगवा का तब तक त्याग कर दें, जब तक आप सभी मामलों से पाक साफ बरी ना हो जाएं। देखिए नेताओं को जिन्हें आप पानी पी पी कर कोसते हैं, वो भी इतने नैतिक हैं कि आरोप लगने पर कुर्सी छोड़ देते हैं। मुझे लगता है कि आपको भी एक उदाहरण पेश करना चाहिए, लेकिन बाबा जी आप से ऐसी उम्मीद करना बेमानी है, क्योंकि आप में कानून के प्रति श्रद्धा होती तो फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पासपोर्ट बनवाने वाले बालकृष्ण की पैरवी ना करते।

      मुझे बालकृष्ण से ज्यादा शिकायत नहीं है। फर्जी सर्टिफिकेट के आधार पर तमाम लोग पायलट बन गए, कुछ दिन पहले इनकी पहचान हुई और इन्हें गिरफ्तार किया। मुझे पता है कि ये बालकृष्ण नेपाली है, उसका जन्मतिथि प्रमाण पत्र फर्जी है, उसकी डिग्रियां फर्जी हैं, इतना ही नहीं उसने फर्जी कागजातो के आधार पर पासपोर्ट तक हासिल कर लिया। ऐसा नहीं है कि बाबा रामदेव के धरने के बाद ये मामला खुला है, सच ये है कि इसकी जांच तीन साल पहले उत्तराखंड पुलिस ने की थी और अपनी रिपोर्ट में साफ कर दिया था कि बालकृष्ण नेपाली नागरिक है और गलत प्रमाण पत्रों के आधार पर इन्होंने पासपोर्ट लिया है। लेकिन उत्तराखंड में बीजेपी की सरकार है, जिसे बाबा रामदेव लाखों रुपये चंदा देते हैं। इसलिए इस मामले में वहां की सरकारने कोई कार्रवाई नहीं की। खैर बालकृष्ण जैसे आरोपी के बारे में ज्यादा चर्चा क्या करूं, इसकी जगह जेल है, और जाना भी तय है, जिस तरह से भागता फिर रहा है, उससे तो उस पर तरस आ रही है।
      मित्रों बालकृष्ण की डिग्री फर्जी होने से ज्यादा शर्मनाक ये है कि बाबा रामदेव एक गलत आदमी के लिए सफाई दे रहे हैं। पुलिस जाती है सीबीआई की नोटिस लेकर, कहा जाता है कि बालकृष्ण आश्रम में नहीं हैं। पुलिस को नोटिस आश्रम में बालकृष्ण के कमरे के बाहर चस्पा करना पड़ता है, दो घंटे बाद भगवाधारी रामदेव आते हैं, वो कहते हैं कि बालकृष्ण आश्रम में ही हैं। बताइये संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति इनकी डिग्री को फर्जी बताते हैं, बाबा रामदेव कहते हैं कि इस सर्टिफिकेट से नौकरी तो नहीं मांग ली। इससे घटिया सोच भला क्या हो सकती है, एक बाबा ऐसी बातें करे, इससे भद्दा, फूहडपन भला क्या हो सकता है। बाबा जी अब आपके मुंह से सच्चाई, ईमानदारी, राष्ट्रवादी बातें बेईमानी नहीं गाली लगती हैं।

      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      गुरुवार, 28 जुलाई 2011

      To LoVe 2015: वाह री मंदी..तेरी लीला न्यारी...

            कहते हैं कि हर बुरी चीज में कुछ अच्छा छिपा होता है....आप माने या न माने आर्थिक मंदी पर भी ये सही साबित हो रहा है..आजकल मंदी से देश का भी भला हो रहा है...दरअसल आज एक खबर पर नजर पड़ी। खबर थी कि मंदी के डर से शादीशुदा लोग बच्चा पैदा करने के प्लान को ठंडे बस्ते में डाल रहे हैं...खाने को ठंडे फ्रिज में रखने की माफिक। अब बताते हैं कि देश का भला इससे कैसे होगा....देखिए दरअसल 1929 और 2008-09 की मंदी में अमेरिका और यूरोपीय देशों में जन्मदर में भारी गिरावट आ गई थी...तो भैया इसी आंकड़े के अधार पर कहा जा सकता है कि हमारे देश पर से भी जनसंख्या का बोझ कुछ घटेगा....वैसे अपन तो छड़े-छाट हैं..सो देश का भला पहले से ही कर रहे हैं...और पूरा विश्वास है कि अपन को इस देशसेवा के लिए कोई न कोई मेडल मिल ही जाएगा देर-सबेर...वैसे आप को बता दूं कि य़े फैसला कम कमाई वाले दंपत्तियों का नहीं है...जिस दंपत्ति का ये फैसला है उसकी कमाई है सालाना तीस लाख के आसपास....। अब ये खबर पढ़ कर मेरी समझ में नहीं आया कि क्या करू....खैर कर तो कुछ सकता नहीं..सिर में बाल कम है सो वो नोंच सकता नहीं...दीवार में सिर मार नहीं सकता..क्योंकि दीवार टूटे या मेरा सिर..दोनो की मरम्मत के लिए पैसा कहां से आएगा.....अब इसका मतलब तो यही निकलता है कि इससे कम कमाने वाले को बच्चे पैदा ही नहीं करने चाहिए।
           अब खबर का दूसरा हिस्सा....खबर के मुताबिक मंदी की वजह से कम पैसे वाले पुरुष को आसानी से दुल्हनिया नहीं मिलती...अब ये अलग बात है कि लड़कियों की जमात वैसे ही कम हो रही है....दुल्हनियां तो वैसे भी कई गांवों में नहीं मिल रही। खैर जब दुल्हनिया नहीं मिलेगी तो बच्चा कहां से पैदा होगा(आफिशियल बच्चा)..और जब तीस लाख रुपली वाले बच्चे पैदा नहीं कर रहे तो कम कमाई वाले के लिए तो ब्याह की सोचना भी महापाप है...हीहीहीही...हकीकत भी है कि कम कमाई में बड़ा परिवार नहीं पलता.....पर क्या है न कि हमारी साठ फीसदी जनसंख्या अनपढ़ है...एक तिहाई को एक टाइम का खाना नसीब नहीं होता....फिर भी सीखते नहीं...बच्चे की लाइन लगाते रहते हैं..बीस रुपये की औसत पर जीने वाले देश के लोगो को समझ जाने कब आएगी...अरे भई...जब बच्चे पैदा करने की हिम्मत तीस लाख रपली कमाने वाले नहीं कर रहे..तो इनकी औकात है..हां नहीं तो...। होना तो ये चाहिए कि सरकार कानूनन कम आमदनी वालो के बच्चा पैदा करने पर रोक लगा दे।
      ...तो भैया अपनी तो जय-जय, तुम्हारी भी जय-जय...अमेरिकी आंकड़े की जय-जय....और सबसे बड़ी जय हो लखटकियों का ख्याल रखने वाले खबरनवीसों की.....
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      To LoVe 2015: India The country of Corrupt leader:






       Yeddyurappa No hope other than resignation :)

      • Full Form of :Bookanakere Siddalingappa Yeddyurappa
      •  Karnataka Chief Minister B.S. Yeddyurappa on Thursday agreed to step down hours after the party leadership asked him to quit immediately
      • he was caught in bribe case and also the loss of e illegal mining scam.
      • A loss about $3.6 billion  is done by him
      • 1 billion =  1,000,000,000 that is one thousand million rupee
      • Caught in huge illegal mining scam that has caused a loss of over Rs.16,000 crore to the state. 
      • In INDIA Common man die of Poverty, Inflation,Hike in Prices  and our leader Are happy with sach a Nobal cause  Really  like Indian Corrupt Govt.


      Source: theHindu
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      खबरगंगा: हीरा भी है सोना भी लेकिन किस काम का

      जहांगीर के शासन काल में झारखंड में एक राजा दुर्जन सिंह थे. वे हीरे के जबरदस्त पारखी हुआ करते थे. वे नदी की गहराई में पत्थर चुनने के लिए गोताखोरों को भेजते थे और उनमें से हीरा पहचान कर अलग कर लेते थे. एक बार मुग़ल सेना ने उनका राजपाट छीनकर उन्हें कैद कर लिया. जहांगीर हीरे का बहुत शौक़ीन था. एक दिन की बात है. उसके दरबार में एक जौहरी दो हीरे लेकर आया. उसने कहा कि इनमें एक असली है एक नकली. क्या उसके दरबार में कोई है जो असली नकली की पहचान कर ले. कई दरबारियों ने कोशिश की लेकिन विफल रहे. तभी एक दरबारी ने बताया कि कैदखाने में झारखंड का राजा दुर्जन सिंह हैं. उन्हें हीरे की पहचान है. वे बता देंगे. जहांगीर के आदेश पर तुरंत उन्हें दरबार में बुलाया गया. उनहोंने हीरे को देखते ही बता दिया कि कौन असली है कौन नकली. जहांगीर ने साबित करने को कहा. उनहोंने दो भेड़ मंगाए एक के सिंघ पर नकली हीरा बांधा और दूसरे के सिंघ पर असली दोनों को अलग-अलग रंग के कपडे से बांध दिया. फिर दोनों को लड़ाया गया. नकली हीरा टूट गया. असली यथावत रहा. दरबार की इज्ज़त बच गयी. जहांगीर इतना खुश हुआ कि दुर्जन सिंह तो तुरंत रिहा कर उसका राजपाट वापस लौटा दिया.
      यह कहानी इसलिए याद आ गयी कि केंद्रीय खान मंत्रालय देश के विभिन्न राज्यों में हीरे और सोने की बंद पड़ी खदानों में उत्खनन के लिए निजी क्षेत्र के निवेशकों को प्रोत्साहित करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है. झारखंड में हीरा भी है और सोना भी लेकिन खान मंत्रालय की इस योजना का लाभ इस सूबे को मिलने की संभावना नहीं के बराबर है. इसका कारण है इसके व्यावसायिक उत्पादन की अल्प संभावना. जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया ने अपने सर्वेक्षण में सिंहभूम, गुमला, लोहरदगा आदि जिलों में कई जगहों पर सोने और हीरे की उपलब्धता के संकेत दिए हैं. विभिन्न कालखंडों में इन स्थलों पर उत्खनन के प्रयास भी किये गए हैं लेकिन अलाभकारी पाए जाने के कारण अभी तक व्यावसायिक स्तर पर उत्खनन नहीं किया जा सका. स्थानीय ग्रामीणों द्वारा अल्प मात्रा में इन्हें चुनकर कर औने-पौने भाव में बेच देने का सिलसिला जरूर चलता रहा है. भूतत्ववेत्ता डा.नीतीश प्रियदर्शी के मुताबिक स्वर्णरेखा, संजई कोयल आदि नदियों की रेत में स्वर्णकण और हीरे मिलते हैं लेकिन उसकी मात्रा इतनी कम है कि व्यावसायिक स्तर पर इसे निकालना घाटे का सौदा होगा. 1913 से 1919 के बीच मनमोहन मिनिरल उद्योग ने सिंहभूम के पोटका ब्लॉक के कुंडरकोचा में करीब 50 एकड़ में फैले निजी क्षेत्र के प्रथम स्वर्ण खदान में 30 मीटर तक खुदाई की थी लेकिन अंततः उसने अपने हाथ खींच लिए थे.
      वर्ष 2003 में झारखंड सरकार ने स्वर्ण खनन क्षेत्र की विश्व विख्यात कंपनी डीवियर्स को स्वर्ण और हीरक उत्खनन का जिम्मा दिया था लेकिन कंपनी के सर्वे की रिपोर्ट निराशाजनक रही. इसके बाद उसने अपने हांथ खींच लिए. डा. प्रियदर्शी ने सरकार को सुझाव दिया है कि सोने और हीरे के कण एकत्र करने के काम में स्थानीय ग्रामीणों की सोसाइटी को लगाया जाये और उन्हें इसकी वाजिब कीमत दिलाने की व्यवस्था की जाये तो यह स्वरोजगार का एक माध्यम बन सकता है. अभी तो सबसे बड़ी समस्या विधि-व्यवस्था की है. जिन इलाकों में इनकी उपलब्धता है वहां माओवादियों का दबदबा है. कोई निजी कंपनी उन इलाकों में काम करने के लिए शायद ही तैयार हो.

      ---देवेंद्र गौतम

      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      बुधवार, 27 जुलाई 2011

      To LoVe 2015: दुनिया की बातें, होती हैं सच्ची

      हमको पता था जिन्दगी के फसाद का |
      पहले ही तैयार था, तरीका निजाद का || 1 ||

      मुश्किलों से न भागना कभी |
      मकसद न बदलना कभी |
      रास्ता न छोड़ना कभी |
      मंजिलें मिल जाती हैं सभी  || 2 ||

      हर समंदर का साहिल नहीं होता |
      हर गंवार जाहिल नहीं होता |
      हर इंसान काहिल नहीं होता |
      हर मामा माहिल नहीं होता || 3 ||

      दुनिया की बातें, होती हैं सच्ची, भले ही वह, क्यूँ न लगें अच्छी |
      चोट कर जाती हैं, आदमी को बदल जाती हैं, भले ही वह, क्यूँ न लगें अच्छी || 4 ||

      खुशवार, हो जाती है, जिन्दगी थोड़े-से प्यार से |
      दुशवार, हो जाती है, जिन्दगी थोड़ी-सी तकरार से |
      गर बात समझ लो इतनी सी |
      तो खुशियों से भर जाती है जिन्दगी || 5 ||

      रास्ता पता नहीं तो किसी को बताया मत करो |
      गलत रास्ता बता कर किसी को भटकाया मत करो |
      रास्ते जिन्दगी के एक न एक दिन मिल ही जाते हैं |
      पर रास्ते रूहानी के भटक गये तो बस भटक ही जाते हैं || 6 ||

                                                         ------- बेतखल्लुस

      .
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      To LoVe 2015: NEW commitment Over INDO-PAK



      Beauty of Pakistan Visit India

      main points:


      1.  Pakistan Foreign Minister Hina Rabbani Khar meets Indian leaders, Lokayukta Justice Santosh Hegde .
      •  The joint statement issued by the two does mention the implementation of series of cross-LoC trade and travel facilitation for Jammu and Kashmir, including enhancing of trading days.
      • She --- expalin -- "Pakistan desires to open a new chapter of friendship and understanding with India"
      • He added, "Our ties are on right track but there are distances to travel. I am satisfied with the outcome of the talks with Pakistan Minister Hina Rabbani Khar."
      • On  terrorism issue a joint statement by the foreign ministers states, “India, Pak express satisfaction on holding of meeting on issue of counter-terrorism, including progress on Mumbai attacks case.”
      •  Four time in a week bus travel form India to Pakistan religious places.
      • SM Krishna, Foreign Secretary Nirupama Rao, Foreign Secretary-designate Ranjan Mathai, Y K Sinha, joint secretary in-charge of Pakistan in MEA, Sharat Sabharwal, India's High Commissioner to Pakistan, and many more attedend the meeting
      • Minister Hina Rabbani Khar's delegation included Foreign Secretary Salman Bashir, Zehra Akbari, Director General, South Asia, in Pakistan's Foreign Office and Pakistan's High Commissioner to India Shahid Malik

      Wait while some updation are Padding..

      Source from:Timesnow
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      To LoVe 2015: ऐसे तो रोज़ निकल जाती थी



      ऐसे तो रोज़ निकल जाती थी,
      यूँ न देर लगाती थी,
      पर आज पता नहीं,
      अभी तक क्यूँ आयी नहीं,

      देखता हूँ, जाता हूँ,
      पता लगाता हूँ,
      क्या बात है,

      पहुंचा वहाँ,
      क्या देखता हूँ,
      अपनी सहेलियों के साथ,
      हो रही उसकी बात है |

      चिड़ा रहीं हैं उसे,
      चुहुल बाज़ी हो रही है,
      शायद किसी दावत की बात हो रही है,
      उसकी तरफ से भी हाँ हो रही है,

      मुझे जो देखा, आँख फेर ली,
      सहेली के काम में कुछ कहा,
      सहेली ने इशारा में कहा,
      कुछ दूर चलने को कहा,

      न आना अब इसके पीछे.
      ये जा रही किसी और के पीछे,
      खैर अगर चाहो,
      दूर अब भागो,

      अब क्या बचा था,
      मुँह मेरा लटका था,
      उन्ही बैठ गया,
      न उठा गया,

      .
      /a>
      FuLl MoViEs
      MoViEs To mOvIeS
      XXX +24 <

      To LoVe 2015: Peon JOB in Rajasthan University Applied By MBA and PHD degree Holder


      feel the  Heart beat when you hear this but this is common in INDIA now:

      • Post for Peon in Rajasthan University
      • There are 15 posts to fill, 3,000 applications.
      • PhDs and MBA degrees have applied for this
      • A M.phill Holder says:
        • "I have all these big degrees, but there is no assured employment. If I get selected, I'll get to do a government job," Mr Rathore. 




        Read more at: full cover story here
        /a>
        FuLl MoViEs
        MoViEs To mOvIeS
        XXX +24 <

        To LoVe 2015: दष्ठौन...कविता...डा श्याम गुप्त.....


        पुत्री के जन्म दिन पर,

        दष्ठौन, पार्टी !

        कहा था आश्चर्य से ,

        तुमने भी ।

        मैं जानता था पर -

        मन ही मन ,

        तुम खुश थीं ,

        हर्षिता, गर्विता |


        दर्पण में,

        अपनी छवि देखकर,

        हम सभी प्रसन्न होते हैं ;

        तो , अपनी प्रतिकृति देखकर ,

        कौन हर्षित नहीं होगा |


        पुत्र जन्म पर ये सवाल -

        क्यों नहीं पूछा था तुमने ?

        मैंने भी पूछ लिया था-

        अनायास ही |

        इसका उत्तर -

        लोगों के पास तो था,पर-

        नहीं था तुम्हारे पास ही |


        प्रकृति-पुरुष,

        विद्या-अविद्या,

        ईश्वर-माया,

        शिव और शक्ति;

        युग्म होने पर ही -

        पूर्ण होती है,

        यह संसार रूपी प्रकृति |

        अतः, गृहस्थ रूपी संसार की

        पूर्णाहुति में ही है

        यह पार्टी ||






        /a>
        FuLl MoViEs
        MoViEs To mOvIeS
        XXX +24 <

        To LoVe 2015: HIKE in: RBI RATE JULY 2011

        RBI INDIA

        In order to slow down the inflation rate .RBI hike its interest Rate.

        Latest RBI HIKE leads to

        • REPO RATE hike by .50% , this is 11th time in 16 months.
        • to follow this yes bank hike its bank rate by 0.50 %
        • Other bank may next week hike their base rate
        The hike in RBI Repo rate leads to the following: 


        1. Hike in Car Loan
        2. Hike In HOME LOAN




        Source info: Hindustan Times 27th july.

        /a>
        FuLl MoViEs
        MoViEs To mOvIeS
        XXX +24 <

        मंगलवार, 26 जुलाई 2011

        Bezaban: महिलाओं को दैहिक स्तर पर देखने की मानसिकता और महिल...

        महिलाओं को दैहिक स्तर पर देखने की मानसिकता और महिल...: "महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं अतनी आम हो गयी हैं की आज किसी भी दिन के अखबार को उठा लें २-४ खबरें तो मिल ही जाएंगे. इसके बहुत से कारण है..."

        महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाओं का एक कारण महिलाओं को दैहिक स्तर पर देखने की मानसिकता और महिलाओं का इसमें सहयोग है.


        /a>
        FuLl MoViEs
        MoViEs To mOvIeS
        XXX +24 <

        To LoVe 2015: आज गलियों में, बेरुखी सी छाई थी

        न हुश्न था, न हुश्न की नुमाइश थी |
        आज गलियों में, बेरुखी सी छाई थी |
        उसका दर भी, आज, बन्द लग रहा था |
        उसके मिलने को, आज, जी कर रहा था |

        बस यूँ गुमसुम-सा, घूम रहा था |
        दोस्त न आज कोई, मिल रहा था |
        टहलते-टहलते यूँ ही, दूर तक निकल गया |
        वही पास एक चाय की दुकान पर बैठ गया |

        चुस्कियां चाय की अब चल रही थीं |
        आखें अब भी उसके दर पर लगी थीं |
        बेसब्री-सी यूँ बढ रही थी |
        दिल की धड़कन तेज़ हो रही थी |

        तभी न जाने कोन निकला |
        दिल धक् से यूँ बिकला |
        ये क्या कातिल बला थी |
        अरे ये तो अपनी ही दिला थी |

        किसी की कलाकारी ने इसे और हसीन कर दिया था |
        सुबह-सुबह इसको किसी ने इतना रंगीन कर दिया था |
        बाद में पता चला चाय की दुकान पर |
        आज इसको देखने आने वाले हैं, घर पर |

        दिल बैठ गया, मैं भी बैठ गया |
        मुझको ये क्या सिला दिया |
        किसी और की उसे बना दिया |
        मैंने ऐसा क्या गुनाह किया |

        उठा धीरे-से चल पड़ा घर की ओर |
        पड़ा बिस्तर पर, कर पीठ उसके घर की ओर |
        तभी घंटी बजी, सामने खड़ी थी सजी |
        मुस्करा रही थी, बुलावा आने का भेजी |

        साथ में कुछ सामान ले गयी |
        आना ज़रूर जाते-जाते कह गयी |
        सब घर जाने की तैयारी में लग गया |
        मैं भी कोई बहाना ढूढने में लग गया |

        अब कैसे जाना होगा |
        कैसे मुँह दिखाना होगा |
        बस जिन्दगी को भुलाना होगा |
        आंसू पीकर शादी में इसकी जाना होगा |

        .
        /a>
        FuLl MoViEs
        MoViEs To mOvIeS
        XXX +24 <